Youth Spring

Nurturing Youth Well-Being

सन्तों की पावन धरा से,

यह संकल्प हमारा हो,

मनोरोग व द्वेष क्लेश से,

मुक्त जगत यह सारा हो,

मनसा, वाचा, कर्मणा से,

यह आह्वान हमारा हो,

मनोरोग व द्वेष क्लेश से,

मुक्त जगत यह सारा हो

 

जन जन के मानस पटल पर

आशाओं का बसेरा हो,

जग देखेगा नया सबेरा,

अब संकल्प हमारा हो,

सन्तों की पावन धरा से,

यह संकल्प हमारा हो

मनोरोग व द्वेष क्लेश से,

मुक्त जगत यह सारा हो

Dr Ravikesh Tripathi

Consultant Clinical Psychologist
Narayana Health City, Bangalore

facebooktwittergoogle_pluslinkedinmail
Categories: Mental Health, Poems